विश्व पर्यावरण दिवस 2024: इतिहास, विषय और महत्त्व

0
32886
विश्व पर्यावरण दिवस 2024
विश्व पर्यावरण दिवस 2024

विश्व पर्यावरण दिवस (WED), 5 जून को विश्वभर में लोगों को पर्यावरण संरक्षण और सतत विकास के महत्त्व के प्रति जागरूक करने के लिए मनाया जाता है, साथ ही लोगों को पर्यावरणीय चुनौतियों का समाधान करने के लिए तत्काल रूप से एकजुट करने का भी प्रयास किया जाता हैं। “भूमि बहाली, मरुस्थलीकरण और सूखा सहनशीलता” थीम के साथ, विश्व 5 जून 2024 को विश्व पर्यावरण दिवस 2024 (WED 2024) मनाने के लिए तैयार है। जैसा कि वैश्विक समुदाय इस महत्त्वपूर्ण दिन पर पृथ्वी का सम्मान करने और पर्यावरणीय संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए एक साथ आते हैं, NEXT IAS का यह लेख विश्व पर्यावरण दिवस (WED) का एक विस्तृत अवलोकन प्रदान करता है, जिसके अंतर्गत इसका इतिहास, मुख्य तथ्य, उद्देश्य, विषय, समारोह, महत्त्व आदि शामिल हैं।

विश्व पर्यावरण दिवस (WED) एक वैश्विक आयोजन है, जिसे प्रत्येक वर्ष 5 जून को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। यह दिन संयुक्त राष्ट्र (UN) का पर्यावरण के लिए विश्वव्यापी जागरूकता एवं कार्रवाई को बढ़ावा देने का मुख्य माध्यम है। 150 से अधिक देशों में मनाया जाने वाला यह दिन जन जागरण के लिए एक वैश्विक मंच के रूप में कार्य करता है, जो पर्यावरण के ज्वलंत मुद्दों की ओर ध्यान आकर्षित करते हैं और सरकारों, व्यवसायों, गैर-सरकारी संगठनों और व्यक्तियों के बीच सहयोग को बढ़ावा प्रदान करता है।

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, “इस दिन का उत्सव हमें पर्यावरण के संरक्षण और संवर्धन में व्यक्तियों, उद्यमों और समुदायों द्वारा जागरूकता एवं उत्तरदायी आचरण के लिए आधार को व्यापक बनाने का अवसर प्रदान करता है।”

तिथि5 जून
प्रारम्भ 1972 में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) द्वारा मानव पर्यावरण पर स्टॉकहोम सम्मेलन के प्रथम दिन को चिह्नित करने के लिए प्रारम्भ किया गया।
उद्देश्यपर्यावरण की रक्षा और सतत पद्धतियों को बढ़ावा देने के लिए वैश्विक जागरूकता एवं कार्रवाई को प्रेरित करना।
आयोजकसंयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP)
थीम प्रत्येक वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस एक विशिष्ट पर्यावरणीय मुद्दे पर फोकस करते हुए एक सेंट्रल थीम के आस-पास घूमता है। (विश्व पर्यावरण दिवस 2024 के लिए थीम: “भूमि बहाली, मरुस्थलीकरण और सूखा सहनशीलता (Land Restoration, Desertification and Drought Resilience)”)
स्लोगन (Slogan)प्रत्येक वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य पर एक प्रभावशाली स्लोगन को शामिल किया जाता है, जो थीम के अनुरूप होता है। (विश्व पर्यावरण दिवस 2024 के लिए स्लोगन: “हमारी धरती। हमारा भविष्य। हम #पुनर्स्थापना पीढ़ी हैं (Our land, Our future. We are #GenerationRestoration”)।
मेजबान देश (Host Country)प्रत्येक वर्ष, एक विशिष्ट देश या क्षेत्र प्रमुख कार्यक्रमों की मेजबानी करने और चुने गए विषय के लिए जागरूकता बढ़ाने में अधिक प्रमुख भूमिका निभा सकता है।(विश्व पर्यावरण दिवस 2024 के लिए मेजबान देश: सऊदी अरब)
विश्व पर्यावरण दिवस (WED) के बारे में मुख्य तथ्य
  • 1972 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने मानव पर्यावरण पर स्टॉकहोम सम्मेलन के दौरान 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में नामित करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया।
  • प्रथम विश्व पर्यावरण दिवस 1973 में “केवल एक पृथ्वी” विषय के साथ मनाया गया था।
  • तब से, प्रत्येक वर्ष 5 जून को एक नए मेजबान देश और अलग विषय के साथ विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है।
  • वर्तमान में, यह दिन दुनिया भर के लाखों लोगों की भागीदारी के साथ एक वैश्विक आंदोलन बन गया है, जो इसे संयुक्त राष्ट्र के सबसे बड़े वार्षिक समारोहों में से एक बनाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस के उद्देश्य हैं:

  • पर्यावरण के ज्वलंत मुद्दों और सतत पद्धतियों के महत्त्व के बारे में जनता को शिक्षित करना।
  • पर्यावरण संरक्षण और संवर्धन को बढ़ावा देने वाली गतिविधियों में भाग लेने के लिए व्यक्तियों, समुदायों और संगठनों को जुटाना।
  • दैनिक जीवन और उद्योगों में पर्यावरण के अनुकूल दिनचर्या और प्रौद्योगिकियों को अपनाने की वकालत करना।
  • जलवायु परिवर्तन, वनों की कटाई, प्रदूषण और जैव विविधता हानि जैसी वैश्विक पर्यावरणीय चुनौतियों की ओर ध्यान आकर्षित करना।
  • पर्यावरण के मुद्दों को सामूहिक रूप से संबोधित करने के लिए देशों, संगठनों और समुदायों के बीच सहयोग को प्रोत्साहित करना।
  • पर्यावरण संरक्षण और सतत विकास के उद्देश्य से बनाई गई नीतियों और पहलों को बढ़ावा देना।
  • पर्यावरण संरक्षण और सतत विकास में व्यक्तियों, संगठनों और देशों के प्रयासों एवं सफलताओं को मान्यता देना।
  • ग्रह के लिए उत्तरदायित्व और संरक्षण की भावना को बढ़ावा देने के लिए युवाओं और स्थानीय समुदायों को पर्यावरणीय पहल में शामिल करना।
  • यद्यपि विश्व पर्यावरण दिवस संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) द्वारा आयोजित किया जाता है, प्रत्येक वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस की मुख्य गतिविधियों की मेजबानी करने के लिए एक नए देश को चुना जाता है।
  • मेजबान देश उस वर्ष के थीम और एजेंडे को निर्धारित करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है तथा राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रमों का आयोजन करता है।

विश्वभर में विश्व पर्यावरण दिवस (WED) की गतिविधियों को आधिकारिक और सार्वजनिक कार्यक्रमों की एक श्रृंखला द्वारा चिह्नित किया जाता है:

विश्व पर्यावरण दिवस के लिए आधिकारिक कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) द्वारा उस वर्ष के मेजबान देश के सहयोग से आयोजित किया जाता है। इसमें आम तौर पर उच्च-स्तरीय सम्मेलन, मंच और पैनल चर्चाएं शामिल होती हैं जो सरकारी नेताओं, पर्यावरण विशेषज्ञों, कार्यकर्ताओं और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों को चुने हुए विषय पर चर्चा करने और सर्वोत्तम पद्धतियों को साझा करने के लिए एक साथ लाती हैं।

आधिकारिक कार्यक्रमों के अलावा, दुनिया भर में कई तरह के सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इनमें सामान्यतः शामिल हैं:

  • शैक्षिक कार्यक्रम (Educational Events) – स्कूल, विश्वविद्यालय और संगठन लोगों को पर्यावरण के मुद्दों एवं सतत पद्धतियों के बारे में शिक्षित करने के लिए सेमिनार, कार्यशालाएं और व्याख्यान आयोजित करते हैं।
  • समुदायिक सफाई (Community Clean-ups) – कई समुदाय कूड़े और प्रदूषण को कम करने के लिए स्थानीय पड़ोस, पार्क, समुद्र तटों और अन्य प्राकृतिक क्षेत्रों में सफाई अभियान चलाते हैं।
  • वृक्षारोपण (Tree Planting) – वृक्षारोपण अभियान के माध्यम से समूह वृक्षारोपण तथा वनों की कटाई को कम करके हरित क्षेत्रों को बढ़ावा दिया जाता है।
  • पर्यावरण अभियान (Environmental Campaigns) – गैर सरकारी संगठन और पर्यावरण समूह, पर्यावरण की रक्षा करने वाली नीतियों और प्रथाओं की वकालत करने के लिए अभियान संचालित करते हैं, जो सामान्यत: उस विशेष वर्ष की वार्षिक थीम पर केंद्रित होते हैं।
  • कला और सांस्कृतिक गतिविधियाँ (Art and Cultural Activities) – पर्यावरण विषयों से संबंधित कला प्रदर्शनियाँ, फिल्म स्क्रीनिंग और सांस्कृतिक कार्यक्रम जनता को जोड़ने और प्रेरित करने के लिए आयोजित किए जाते हैं।
  • सतत अभ्यास (Sustainable Practices) – व्यवसाय और संगठन अपनी सतत पहलों का प्रदर्शन करते हैं तथा कर्मचारियों एवं ग्राहकों के बीच पर्यावरण के अनुकूल प्रथाओं को प्रोत्साहित करते हैं।
  • सोशल मीडिया अभियान (Social Media Campaigns) – ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का उपयोग जागरूकता फैलाने, जानकारी साझा करने और हैशटैग एवं डिजिटल कार्यक्रमों के माध्यम से वैश्विक भागीदारी को प्रेरित करने के लिए किया जाता है।
  • पुरस्कार और मान्यता (Awards and Recognition) – उन व्यक्तियों, संगठनों और समुदायों को पुरस्कार और मान्यता दी जाती है जिन्होंने पर्यावरण संरक्षण में महतत्त्वपूर्ण योगदान दिया है।
विश्व पर्यावरण दिवस 2024

प्रत्येक वर्ष की तरह, इस बार भी दुनिया 5 जून 2024 को विश्व पर्यावरण दिवस 2024 मना रही है। इस वर्ष के WED समारोहों का थीम “भूमि बहाली, मरुस्थलीकरण और सूखा सहनशीलता” है। दुनिया भर में पारिस्थितिकी तंत्र बहाली और सतत भूमि प्रबंधन प्रथाओं को बढ़ावा देने के रणनीतिक फोकस के साथ, इस वर्ष के विश्व पर्यावरण दिवस का विषय विशेष महत्त्व रखता है, जैसा कि नीचे दिए गए अनुभाग में बताया गया है।

  • अरब क्षेत्र में भूमि क्षरण और सूखे सहित महत्त्वपूर्ण पर्यावरणीय मुद्दों का पता लगाने के लिए 3-4 जून तक रियाद, सऊदी अरब में अरब फोरम फॉर एनवायरनमेंट का आयोजन किया जाएगा।
  • दो दिवसीय कार्यक्रम का लक्ष्य संभावित सहयोग के अवसरों की पहचान करना और एक क्षेत्रीय संवाद स्थापित करना है।

विश्व पर्यावरण दिवस 2024 का थीम “भूमि बहाली, मरुस्थलीकरण और सूखा सहनशीलता (Land Restoration, Desertification, and Drought Resilience)” रखा गया है। इस विषय के बहुआयामी महत्त्व को निम्न प्रकार से देखा जा सकता है:

  • एक महत्वपूर्ण मुद्दे पर प्रकाश डालना (Highlighting a Critical Issue): भूमि क्षरण और मरुस्थलीकरण खाद्य सुरक्षा, जैव विविधता एवं जलवायु परिवर्तन को प्रभावित करने वाले प्रमुख खतरे हैं। इस मुद्दे पर ध्यान आकर्षित करना विभिन्न समुदायों के मध्य जागरूकता को बढ़ाना है।
  • कार्रवाई की तात्कालिकता (Urgency for Action): यह थीम उन कार्यों पर ज़ोर देता है जो ट्रिपल ग्रहीय संकट की तीव्रता के बीच महत्वपूर्ण हैं: जलवायु परिवर्तन, प्रकृति और जैव विविधता हानि, तथा प्रदूषण और अपशिष्ट।
  • साझा जिम्मेदारी (Shared Responsibility): यह थीम इस बात को रेखांकित करता है कि हमारे ग्रह के पारिस्थितिकी तंत्रों को बहाल करने के लिए सामूहिक कार्रवाई और व्यक्तिगत जिम्मेदारी की आवश्यकता है। यह सभी को समाधान में योगदान करने के लिए प्रोत्साहित करता है।
  • युवाओं का सशक्तिकरण (Empowering Youth): 2024 के नारे में #GenerationRestoration हैशटैग अधिक टिकाऊ भविष्य की ओर बदलाव का नेतृत्व करने में युवाओं की भूमिका पर जोर देता है। यह उन्हें कार्रवाई करने के लिए प्रेरित करता है।
  • वैश्विक लक्ष्यों के साथ संरेखण(Alignment with Global Goals): यह विषय पारिस्थितिकी तंत्र बहाली पर संयुक्त राष्ट्र दशक (2021-2030) और सतत विकास लक्ष्यों के साथ संरेखित है, जो पर्यावरण संरक्षण के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को बढ़ावा देता है।
विश्व पर्यावरण दिवस 2024 का थीम

विश्व पर्यावरण दिवस का महत्त्व इस प्रकार है:

  • वैश्विक जागरूकता(Global Awareness) – विश्व पर्यावरण दिवस जलवायु परिवर्तन, प्रदूषण, वनों की कटाई, जैव विविधता हानि और जल की कमी जैसे पर्यावरण के ज्वलंत मुद्दों के बारे में वैश्विक जागरूकता बढ़ावा देते हैं।
  • कार्रवाई और वकालत (Action and Advocacy) – यह व्यक्तियों, समुदायों, सरकारों और संगठनों को पर्यावरण संरक्षण एवं सतत विकास की दिशा में कार्रवाई करने के लिए प्रोत्साहित करता है।
  • नीति प्रभाव (Policy Impact) – विश्व पर्यावरण दिवस समान्यत: राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पर्यावरणीय चुनौतियों का समाधान करने और सतत प्रथाओं को बढ़ावा देने के लिए नीतिगत चर्चाओं एवं प्रतिबद्धताओं को उत्प्रेरित करता है।
  • शिक्षा और सहभागिता (Education and Engagement) – यह लोगों को पर्यावरणीय संरक्षण के महत्त्व के बारे में शिक्षित करने और उन्हें उन गतिविधियों एवं पहलों में शामिल करने का अवसर प्रदान करता है जो सकारात्मक पर्यावरणीय परिणामों में योगदान करते हैं।
  • अंतर्राष्ट्रीय सहयोग (International Cooperation) – विश्व पर्यावरण दिवस वैश्विक पर्यावरणीय मुद्दों से सामूहिक रूप से निपटने के लिए देशों, संगठनों और व्यक्तियों के बीच अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देता है।
  • प्रेरणा और नवाचार (Inspiration and Innovation) – यह पर्यावरण संरक्षण और स्थिरता के लिए अभिनव समाधानों एवं पहलों को प्रेरित करता है। यह दुनिया भर से सफल उदाहरणों और सर्वोत्तम प्रथाओं को प्रदर्शित करता है।
  • सामुदायिक सशक्तिकरण (Community Empowerment) – विश्व पर्यावरण दिवस के लिए स्थानीय वातावरण में बदलाव के लिए समुदायों को सशक्त बनाता है , जो जमीनी स्तर की कार्रवाई और भागीदारी को बढ़ावा प्रदान करते हैं।

संक्षेप में, विश्व पर्यावरण दिवस (WED) हमारे प्राकृतिक पर्यावरण के महत्त्व और उसकी रक्षा करने की तत्काल आवश्यकता का एक शक्तिशाली अनुस्मारक है। जागरूकता एवं कार्रवाई को प्रोत्साहित करके वैश्विक सहयोग को बढ़ावा दिया जा सकता है जोकि एक टिकाऊ और लचीले भविष्य को बढ़ावा देने के लिए आवश्यक है।

5 जून को पर्यावरण दिवस के रूप में क्यों मनाया जाता है?

5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में मनाया जाता है क्योंकि यह 1972 में मानव पर्यावरण पर स्टॉकहोम सम्मेलन के प्रथम दिन को चिह्नित करता है। यह सम्मेलन एक ऐतिहासिक कार्यक्रम था जिसने विश्वभर के सरकारी अधिकारियों, वैज्ञानिकों और पर्यावरण कार्यकर्ताओं को पर्यावरण क्षरण के बारे में बढ़ती चिंताओं पर चर्चा करने के लिए एक साथ लाया गया था।

प्रथम विश्व पर्यावरण दिवस कब मनाया गया था?

संयुक्त राष्ट्र मानव पर्यावरण सम्मेलन 5 जून 1972 को स्वीडन के स्टॉकहोम में आयोजित हुआ था। इस आयोजन के सम्मान में, पहली बार 5 जून 1973 को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया था। तब से, इस विशेष दिन को पर्यावरण के मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाने और वैश्विक पर्यावरणीय कार्रवाई को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक वर्ष उसी तिथि को मनाया जाता है।

पर्यावरण दिवस 2024 का स्लोगन क्या है?

पर्यावरण दिवस 2024 का नारा “हमारी धरती। हमारा भविष्य। हम #पुनर्स्थापना पीढ़ी हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here